24
JAN
2017

हलब जल रहा है – Aleppo is burning  

हलब जल रहा है हम जला रहे हैं … इस बात में कोई शक नहीं कि किसी भी मामले के पसमंज़र में बहुत सारे पहलू कारफर्मां (कारक) होतें हैं, लेकिन मुसलमान होने की हैसियत से हमारी यही ज़िम्मेदारी हैं के हम इस मामले में सबसे पहले अपना जायज़ा लें (समीक्षा करें), इस बात का जायज़ा लें की हमारा
Continue Reading →
22
JAN
2017

नबूव्वत का परिचय – भाग 1

लेखक: जावेद अहमद ग़ामिदी अनुवाद: मुश्फ़िक़ सुल्तान إِنَّا أَوْحَيْنَا إِلَيْكَ كَمَا أَوْحَيْنَا إِلَىٰ نُوحٍ وَالنَّبِيِّينَ مِن بَعْدِهِ ۚ وَأَوْحَيْنَا إِلَىٰ إِبْرَ‌اهِيمَ وَإِسْمَاعِيلَ وَإِسْحَاقَ وَيَعْقُوبَ وَالْأَسْبَاطِ وَعِيسَىٰ وَأَيُّوبَ وَيُونُسَ وَهَارُ‌ونَ وَسُل
Continue Reading →
22
JAN
2017

दीन और अक़ल

लेखक: जावेद अहमद गामिदी अनुवादक : मुश्फ़िक़ सुल्तान हमारे यहाँ लोग अक्सर कहते हैं कि दीन का अक़ल से क्या संबन्ध? यह तो बस मान लेने की चीज़ है। इस के लिए अली रज़ी अल्लाहो अनहु का यह कथन दलील के तौर पर पेश किया जाता है कि दीन के अहकाम (आदेश) अगर अक़ल पर टिके होते तो नबी सल्लल्लाहो अलैहि वसल्ल
Continue Reading →