13
MAY
2019

Donation

[paytmcheckout]
Continue Reading →
05
JUN
2017

व्यावसायिक ब्याज़ (Commercial Interest)

 कुछ लोग सोचते हैं कि व्यापारिक उपक्रमों (commercial enterprises) से लिया जाने वाला सूद निषिद्ध (हराम) नहीं है। इस ग़लतफहमी को दूर करते हुए ग़ामिदी साहब लिखते हैं[1]: यह साफ रहना चाहिए कि रिबा  का मतलब इससे तय नहीं होता कि क़र्ज़ निजी ज़रूरत, व्यापार या फ
Continue Reading →
30
MAY
2017

वुज़ू और नेल पॉलिश

जावेद अहमद ग़ामिदी  अनुवाद: मुहम्मद असजद नाखूनों पर किसी ना किसी तरह की सामग्री से रंग करना आमतौर पर महिलाओं के बनाव-श्रृंगार का हिस्सा है। आज के दौर में अलग-अलग तरह की नेल पॉलिश इसके लिए इस्तेमाल की जाती हैं। इसके नतीजे में यह सवाल उठता है कि ऐसे में वुज़ू किस तरह होगी ? इस सवाल क
Continue Reading →
27
MAY
2017

ख़िलाफ़त

["इसलाम और रियासत – एक जवाबी बयानिया” पर ऐतराज़ात के जवाब में लिखा गया लेख] जावेद अहमद ग़ामिदी  अनुवाद: आक़िब ख़ान इसमें शक नहीं कि “ख़िलाफ़त” का लफ़्ज़ कई सदीयों से “इस्तिलाह”* के तौर पर इस्तेमाल होता रहा
Continue Reading →
21
MAY
2017

इसलाम और रियासत (एक जवाबी बयानिया) – The Counter Narrative

जावेद अहमद ग़ामिदी  अनुवाद: आक़िब ख़ान इस समय जो हालात कुछ इंतिहापसंद तहरीकों ने अपनी कार्रवाइयों से इसलाम और मुसलमानों के लिए पूरी दुनिया में पैदा कर दी है, ये उसी विचारधारा का बुरा नतीजा है जो हमारे मज़हबी मदरसों में पढ़ा और पढ़ाया जाता है, और जिसका प्रचार इस्लामी तहरीकें और मज़हबी स
Continue Reading →
22
JAN
2017

Al-Mawrid Hind Foundation

As a legatee of the rich intellectual tradition in Muslim history, Al-Mawrid Hind Foundation is a unique institution of learning. A deep concern over the dearth of suitable approaches to Islamic learning in our times gave birth to this institution. Lost in the maze of sectarian prejud
Continue Reading →
22
JAN
2017

Islam- A Comprehensive Introduction

Islam: A Comprehensive Introduction (Urdu title: Mizan) is an extensive study of the contents of Islam by the author. It is an effort which spans almost two decades of both creative and critical thinking. The entire endeavour is a fresh interpretation of Islam from its original source
Continue Reading →